Thursday, May 19, 2011

मैं....

१.
तुमको पा
न खोया खुद को
तुम्हे खोकर भी
न मिला मैं मुझको !

खुद को , तुमको
सब ही खो दिया मैंने!

२.
रंगहीन है
प्रकाश.

स्याह या सफ़ेद
है
न होना या होना इसका

मैं
नहीं प्रिज्म
रंग नहीं मेरा जीवन

३.

खड़ा होना
दो पैरो पर
मेरा मनुष्य / करता विकास
चलना सीधे सीधे
खड़ा रहना सीधे सीधे
इसी बिंदु पर फ्रीज़ हूँ
मैं !
मैं बन चूका / इतिहास
विकास में बहुत पीछे.



1 comment:

  1. This one is gud...bt thoda aur saral banaane ki koshish ki jaa sakti hai..

    ReplyDelete