Sunday, March 27, 2011

मै चाहता हु

मै चाहता हूँ
बदल दू मुस्कान मोनालिसा 

चींख मारे चिग्घाड़  कर 
या हंस दे मुह बा कर
रहस्य आ कर सुलभ नहीं रहने देता मुस्कान

मै चाहता हूँ
मोनालिसा को अपनी जद में लाना .........

No comments:

Post a Comment